समास
वाक्य भेद
अलंकार
श्रुतिसम भिन्नार्थक
पर्यायवाची पर्यायवाची
100

जहां पर पहला पद संख्या वाची होता है वहां पर द्विगु समास होता है

सही जवाब

100

वाक्य के मुख्य कितने अंग होते है ?

दो उद्देश्य और विधेय

100

वर्णों की आवृत्ति होने पर कौन सा अलंकार होता है?

अनुप्रास अलंकार

100

श्रुतिसमभिन्नार्थक शब्द का शाब्दिक अर्थ क्या है?

सुनने में समान , अर्थ भिन्न

100

पर्यायवाची के लिए दूसरा शब्द क्या है ?

समानार्थी

200

जिस समाज में कारक की विभक्तियों  के द्वारा समास  विग्रह किया जाता है वहां तत्पुरुष समास होता है ।

सही जवाब

200

रचना के आधार पर वाक्य के कितने भेद होते हैं?

तीन सरल, संयुक्त और मिश्र

200

जहां पर उपमेय में उपमान की संभावना होती है वहां कौन सा अलंकार होता है ?

उत्प्रेक्षा अलंकार

200

अन्न तथा अन्य का क्या अर्थ है ?

अन्न    अनाज

अन्य।   दूसरा







200

अलंकार का पर्यायवाची नहीं है आभूषण ,भूषण,  भूषित 

 भूषित 

300

शब्द निर्माण की प्रक्रिया सिर्फ और सिर्फ समास के द्वारा होता है ।

नही और भी कारण होते हैं ।

300

अर्थ के आधार पर वाक्य के कितने भेद होते हैं?

आठ भेद होते हैं।

300

"रात यूं  कहने लगा मुझसे गगन का चांद " में कौन सा अलंकार है ?

मानवीकरण अलंकार

300

बहु तथा बहू में क्या अंतर है ?

बहु       बहुत

बहू।        पुत्रबहू ( पुत्र की पत्नी)   

300

अज्ञानी का पर्यायवाची है।     मूढ़  , बिना बुद्धि का आदमी बिना बुद्धि के औरत ।

मूढ़

400

द्विगु समास तथा बहुब्रिही समास में क्या अंतर है।

द्विगु समास का पहला पद संख्यावाची होता है जबकि बहुब्रीही समास किसी तीसरे की विशेषता बताता है ।

400

 सोने की चिड़िया कहलाने वाला यह वही भारत देश है  मिश्र वाक्य में बदलिए ।

यह वही भारत देश है जो सोने की चिड़िया कहलाता था।

400

देख लो साकेत नगरी है यही , स्वर्ग से  मिलने गगन में जा रही " में कौन सा अलंकार है ?

अतिश्योक्ति अलंकार

400

अंबर तथा अंबार का क्या अर्थ है ?

अंबर             आकाश 

अंबार।                ढेर

400

हवा का पर्यायवाची है   अनल , अनिल, वायु प्रदूषण

अनिल

500

समास का शाब्दिक अर्थ क्या है ?

संक्षिप्तिकरण

500

सूर्य उदय हुआ तथा पक्षी चहचहाने लगे । वाक्य भेद बताइए

संयुक्त वाक्य

500

"मन  सागर , मनसा लहरी, बूड़े बहे अनेक। "   में कौन सा अलंकार है ?

रूपक अलंकार

500

अन्यान्य तथा अन्याय का क्या अर्थ है ?

अन्यान्य।        दूसरा

अन्याय।           न्याय के विरुद्ध

500

सूर्य का पर्यायवाची नहीं है।        दीनानाथ, दिवाकर, भास्कर, दिनकर

दीनानाथ

Click to zoom